Foot drop

Foot drop in hindi [फुट ड्राप]

What is foot drop? ( फुट ड्राप क्या है?)

फुट ड्राप एक बीमारी होती है जिसमें पैर के पंजे को उठाने में मरीज असमर्थ होता है जिससे चलने में परेशानी होती है

इस बीमारी से ग्रसित आदमी चलते समय घुटना उठा कर चलता है जैसे कि उसे सीढिया चाँदनी है

इसके साथ साथ मरीज को पेर में घुटनों के नीचे वाले हिस्से में सुन्न पन महसूस होता है

CAUSE OF FOOT DROP (फुट ड्राप के कारण)

फुट ड्राप के लक्षण किसी ना किसी और बीमारी के कारण दिखते है जो की 3 catagory में विभाजित की जाती है

1.nerve में चोट (nerve injury)

2.brain या spinal cord की बीमारी

3.Muscle की बीमारी

nerve में चोट( nerve injury)

पैर में पाई जाने वाली कोमन पेरोनियाल नर्व में अगर किसी कारण चोट या इंजरी आ जाती है तो उस कारण फुट ड्राप होता है । ये चोट नीचे लिखे कारणो से आ सकती है

  • किसी खेल के दौरान चोट
  • डाईबेटिस के कारण
  • बच्चे के जन्म के समय माता में
  • कूल्हे या घुटने के आपरेशन के कारण
  • पेर में पट्टा चढने के कारण

brain या spinal cord की बीमारी

न्यूरोलॉजिकल बीमारी होने पर भी फुट ड्राप की समस्या होती है

  • पैरालिसिस
  • मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस
  • न्यूरोपैथी
  • सेरेब्रल पाल्सी

muscle की बीमारी

Muscle संबंधी बीमारियों के कारण भी फुट ड्राप की2 समस्या होरी है। कुछ muscle समस्याए नीचे प्रदर्शित है

  • muscular dystrophy
  • Amylotropic lateral sclerosis
  • Polio

Muscle involve in foot drop

( मांसपेशिया जिनके कारण फुट ड्राप होता है)

  • Tebialis anterior
  • extensor hallusic longus
  • Extensor degetorum longus

FOOT DROP INVASTIGATION ( फुट ड्राप की जाँच)

1 Tinels test :

इस टेस्ट में पेरोनियाल nerve जो कि घुटने के नीचे होती है उसे tap किआ जाता है तो पंजे एवम पेर में झींझइनी आने पर टेस्ट पोसिटिव माना जाता है

2 nerve cunduction test: ( नर्व कुंडक्शन टेस्ट)

इस टेस्ट में पेर की नर्व की ऐक्टिविटी को चेक किआ जाता है।

3 E M G ( एलेक्ट्रोमायोग्राफी)

इस टेस्ट में पेर की मांसपेशियों की ऐक्टिविटी को चेक किआ जाता है।

4 M R I :

FOOT DROP TREATMENT( फुट ड्राप का इलाज)

  1. सबसे पहले फुट ड्राप के कारण का इलाज किआ जाता है जिससे बीमारी की जड़ को ठीक किआ जा सके
  2. Medicines के द्वारा फुट ड्राप का इलाज किआ जाता है। ऐसी दवाइयां दी जाती है जिससे पेरोनियाल नर्व की ताकत बढ़े।
  3. फिजियोथेरेपी में E M S मशीन के द्वारा ट्रीटमेंट किआ जाता है साथ ही कुछ कसरत मरीज को करने के लिए बताई जाती है।
  4. एक्यूपंक्चर के द्वारा भी फुट ड्राप का इलाज किआ जाता है
  5. Foot drop splint का उपयोग करके पेर को सुरक्षा प्रदान की जाती है।

1 thought on “Foot drop in hindi [फुट ड्राप]”

Leave a comment